IPL मैचों में सट्टा खिलाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 3 गिरफ्तार, सरगना फरार

अंबिकापुर: सरगुजा पुलिस ने IPL सट्टेबाजी के केस में बड़ा खुलासा किया है. पुलिस ने IPL में सट्टा खिला रहे तीन युवकों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. आरोपियों के पास से 3 लाख नकद, 50 लाख की सट्टा-पट्टी और अन्य सामान बरामद किया गया है. सट्टेबाजी के गिरोह का सरगना समेत दो मुख्य आरोपी अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है. पुलिस की टीम आरोपियों की तलाश कर रही है.IPL सीजन शुरू होने के साथ ही शहर में सट्टेबाजी का दौर भी शुरू हो गया है. IPL के हर मैच के एक-एक ओवर, प्रत्येक बॉल पर बनने वाले रन और टीम की जीत-हार पर लाखों रुपए का दांव लग रहा है. IPL के नाम पर हो रही सट्टेबाजी की जानकारी पुलिस को भी मिल रही थी. ऐसे में IG रतन लाल डांगी ने एसपी को एक टीम बनाकर सट्टा खिलाने वाले गिरोह को पकड़ने के निर्देश दिए थे. जिसके बाद एसपी ने एएसपी ओम चंदेल, सीएसपी आरआर पैंकरा, प्रशिक्षु डीएसपी लोकेश बंसल के नेतृत्व में टीम का गठन किया था.पढ़ें-रायपुर: चलती कार में 6 लोग लगा रहे थे IPL मैच पर सट्टा, 10 करोड़ की सट्टा पट्टी जब्तरविवार की रात पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि शहर के मायापुर में एक मकान में IPL मैच पर सट्टा खिलाया जा रहा है. सूचना मिलते ही एसपी के निर्देश पर पुलिस टीम ने जब छापेमारी की जहां 3 आरोपी रंगे हाथों पकड़े गए.ये हुए गिरफ्तार, समान बरामदपुलिस ने मौके से हरिद्वार का रहने वाला 25 वर्षीय राहुल डबराल, मठपारा निवासी 40 वर्षीय गोविंदा साहू, खजुरी निवासी 32 वर्षीय मनोहर को गिरफ्तार किया गया है. राहुल डबराल मायापुर में किराए का मकान लेकर रह रहा था. वह सट्टाबाजी का कारोबार गिरोह के सरगना कुंडला निवासी रवि गर्ग और डीसी रोड निवासी अनुराग बंसल के साथ मिलकर चला रहा था. पुलिस ने मामले में जुआ एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया है.सरगना रवि गर्ग फरारजिले में IPL में सट्टा खिलाने वाले गिरोह का मुख्य सरगना रवि गर्ग और अनुराग बंसल है. फिलहाल ये दोनों ही फरार बताए जा रहे हैं. बता दें कि रवि गर्ग पहले भी आईपीएल में सट्टा खिलाने के मामले में पकड़ा जा चुका है और इस बार भी सट्टा कारोबार में उसका ही नाम सबसे ऊपर है.पढ़ें-बिलासपुर: IPL में खिला रहे थे सट्टा, 15 लाख रुपये की सट्टा पट्टी सहित 3 आरोपी गिरफ्तारपेट्रोल पंप में पैसों का बंटवाराएसपी टीआर कोशिमा ने बताया कि आरोपी रवि गर्ग का पैसा अनुराग बंसल के आरके पेट्रोल पंप तक पहुंचता था. यहीं पैसों का बंटवारा होता था. इसके साथ ही ये IPL में सट्टा लगाने वालों को फोन कर उन्हें पैसे जमा करने के लिए बुलाते थे. जीतने वाले व्यक्ति को फिर से फोन कर जीत का पैसा देने के लिए बुलाया जाता था.सट्टा-पट्टी से सामने आ सकते है कई नामपुलिस को मौके से एक सट्टा-पट्टी मिली है. जिसमें इस सीजन में अब तक 50 लाख रुपए का सट्टा खिलाए जाने की जानकारी दर्ज है. इस सट्टा-पट्टी से पुलिस को कई बड़े नाम भी मिले है जो मैच में सट्टा खेलते थे. हालांकि इनपर कोई कार्रवाई होगी या नहीं इसे पुलिस ने स्पष्ट नहीं किया है और जांच के बाद नियमानुसार कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है.